पेंशनरों के लिए ऋण

अगर आप एक केंद्रीय या राज्य सरकार केपेंशनर हैं और उम्र 72 से अधिक वर्षों के नहीं हैंऔर हमारी शाखाओं में से एक के माध्यम से अपने पेंशन ड्राइंगकरते हो, तो आप अपने व्यक्तिगत खर्चों को पूरा करने के लिए अपनी शाखा से ऋण का लाभ ले सकते हैं. हम आपकी धन की तत्काल या अप्रत्याशित जरूरत या परिवार दायित्व पूरा होने के लिए आवश्यकता कोसमझते हैंऔर हमारे साथ अपने सहयोग की सराहना कर सकते हैं.

कोई प्रोसेसिंग शुल्क नहीं, कोई छिपा लागत और कोई पूर्वभुगतान दंडनहीं. अगर आपके कुछ अधिशेष धन आता है तो आप इसे अपने ऋण दायित्व और ब्याज का बोझ कम करनेके लिए अपने ऋण खाते में जमा कर सकते हैं.

(1)पात्रता
(a)पेंशनरों के लिए:

पेंशनर की आयु के 72 से अधिक वर्षों से नहीं होना चाहिए

इसके अलावा, जिसका पेंशन पेंशनर के आदेश के अनुसार, हमारी शाखाओं के पक्ष में जारी चेक के माध्यम से सरकारी कोष से वितरित कर रहे हैं पेंशनरों, भी शामिल करने का प्रस्ताव है.ऐसे मामलों में, मूल पेंशन भुगतान आदेश (पीपीओ) खजाना की हिरासत में रहता है और पेंशनभोगी एक बैंक की एक विशेष शाखा के माध्यम से पेंशन के भुगतान के लिए खजाना के लिए एक आदेश देता है.

इस तरह पेंशनरों निम्नलिखित शर्तों के योजना विषय के दायरे में शामिल किया जाएगा:

i. संबंधित पेंशनर एसबीआई से उसके द्वारा ली गई एक ऋण की अवधि के दौरान,एक पत्र (undertaking) देगा की इस ऋण के दौरान ट्रेशरी को दिये हुए आदेशमें कोई बदलाव नहीं करेगा.

ii. ट्रेजरी एक अनापत्तिसहमती प्रमाण पत्र लिखित मेंजारीकरेगा किबैंक द्वारासहमतिके बिनापेंशनर से उनकी पेंशन भुगतानकिसी भी अन्य बैंक / शाखा को हस्तांतरण करने के किसी भी अनुरोध को स्वीकार नहीं करेगा.

iii. योजना के अन्य सभी नियम और शर्तों या एक उपयुक्त तीसरे पक्ष (परिवार पेंशन के लिए पात्र होंगे जो) पति/पत्नी की गारंटी सहित, लागू हो जाएगा. परिवार पेंशनरों के लिए मानदंडों जारी रहेगा.

iv. हालांकि, हम 25,000 / तक के ऋणों के लिए पति से (पेंशनभोगी के मामले में) गारंटी या (परिवार पेंशनर के मामले में) तृतीय पक्ष पर जोर नहीं देंगे अगर पेंशन हमारे बैंक के साथ ग्राहक के खाते के माध्यम से कराई हैऔर पीपीओहमारे पास है.

(b)पारिवारिक पेंशनरों के लिए:

1. पेंशनर की मृत्यु के बाद पेंशन प्राप्त करने के लिए अधिकृतपारिवारिक पेंशनभोगी, यानी पति/पत्नी की आयु 65 से अधिक वर्षों से नहीं होना चाहिए.

2. ऋण की राशि:

a) पेंशनरों के लिए:रुपये 1,00,000/-अधिकतम 12 महीने की पेंशन

b) पारिवारिक पेंशनरों के लिए: रुपए50,000 / - की अधिकतम सीमा के साथ अधिकतम 9 महीने की पेंशन.

3. कोलेटरल सिक्योरिटी : परिवार पेंशन के लिए पात्र पति/पत्नी को ऋणकी गारंटीदेनी होगी या या परिवार के किसी भी सदस्य या ऋण राशि के लायक एक तीसरे पक्ष की गारंटीदेनी होगी.

4. भुगतान की अवधि :4. भुगतान की अवधि: 60 बराबर मासिक किस्तों (ईएमआई) – अगर ऋण स्वीकृति के समय पेंशनर की उम्र 70 साल तक हैतो.

48 बराबर मासिक किस्तों (ईएमआई) - स्वीकृति की समय पर पेंशनर की उम्र 70-72 साल के बीच है तो.

5. प्रोसेसिंग फीस : कुछ नहीं कुछ नहीं

6. मार्जिन कोई नहीं

ब्याज

ब्याज दरों के लिए यहां क्लिक करें